HINDI SECTION

बाबरी मस्जिद के बाद ज्ञानवापी मस्जिद

 

उत्तर प्रदेश के वाराणसी शहर में काशी विश्व​नाथ मंदिर के पास में ज्ञानवापी मस्जिद परिसर का सर्वे-वीडियोग्राफी कार्य शनिवार सुबह कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच एक बार फिर शुरू हुआ और यह रविवार को भी जारी रहेगा।

अधिकारियों ने बताया कि सर्वे कार्य शांतिपूर्ण तरीके से चला, किसी भी पक्ष ने कोई अवरोध उत्पन्न नहीं किया, सब कुछ सामान्य है, हम सर्वे कार्य की बारीक़ी से निगरानी कर रहे हैं। शनिवार को आयोग के सर्वेक्षण के समापन के बाद मामले में हिंदू महिलाओं का प्रतिनिधित्व करने वाले वकील सुधीर त्रिपाठी ने कहा कि सर्वेक्षण कल भी जारी रहेगा, इसमें से लगभग 50 प्रतिशत काम हो चुका है, प्रशासन और विरोधी पक्ष के सहयोग से आयोग की कार्रवाई चार घंटे तक चलती रही, किसी के द्वारा कोई बाधा उत्पन्न नहीं की गयी, सर्वे की रिपोर्ट कोर्ट में पेश की जाएगी।

शनिवार को 1,500 से अधिक पुलिसकर्मियों और पीएसी जवानों को ज्ञानवापी मस्जिद परिसर की सुरक्षा में तैनात किया गया था। अधिकारियों के मुताबिक ज्ञानवापी मस्जिद परिसर के 500 मीटर के दायरे में लोगों की आवाजाही रोक दी गई है, उन्होंने बताया कि पुलिस ने गोदौलिया और मैदागिन इलाके से वाहनों की आवाजाही भी प्रतिबंधित कर दी थी।

ज्ञानवापी मस्जिद प्रतिष्ठित काशी विश्वनाथ धाम के क़रीब स्थित है और स्थानीय अदालत महिलाओं के एक समूह द्वारा इसकी बाहरी दीवारों पर मूर्तियों के सामने दैनिक प्रार्थना की अनुमति मांगने से जुड़ी याचिका पर सुनवाई कर रही है।

पिछले शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट ने ज्ञानवापी मस्जिद के सर्वेक्षण के लिए वाराणसी की अदालत के हालिया आदेश पर रोक लगाने की मांग वाली एक अपील पर कोई आदेश पारित करने से इनकार कर दिया।

मस्जिद की प्रबंधन समिति अंजुमन इंतजामिया मसाजिद कमेटी की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता हुज़ैफ़ा अहमदी मामले को लेकर शीर्ष अदालत पहुंचे थे, अहमदी ने तर्क दिया था कि वाराणसी की अदालत का फ़ैसला उपासना स्थल अधिनियम, 1991 के विपरीत है। पिछले छह मई को सर्वेक्षण शुरू ज़रूर हुआ लेकिन मस्जिद कमेटी ने जब पक्षपाक्ष करने का आरोप लगाते हुए अदालत में अपील की तो इसे रोक दिया गया।

Facebook Comments Box